Indian Air Force Day 2022-90 वें भारतीय वायुसेना दिवस, जानें इतिहास

By | December 1, 2022

Indian Air Force Day 2022 – भारतीय वायु सेना दिवस हर साल 8 अक्टूबर को मनाया जाता है । भारतीय वायु सेना दिवस को भारत के विमानन उद्योग और देश की सुरक्षा करने वाले वीर वायु सेना कर्मियों को सम्मानित करने के लिए मनाया जाता है। इसका मुख्य उद्देश्य भारत की वायु सेना को श्रद्धांजलि देना और उनके योगदान को याद करना। भारतीय सेना ने कई ऐतिहासिक एयर बैटल लड़े और जीते है जिसके चलते युद्ध के मैदान पर भारत की एक मजबूत प्रतिष्ठा बनाने में मदद की है. इस शुभ अवसर पर भारत देश के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने भारतीय वायु सेना कर्मियों श्रद्धांजलि दी और कई महत्वपूर्ण घोषणा भी की है। चलिए जानते है इस आर्टिकल से भारत देश को राष्ट्र रक्षा में समर्थ बनाने की योजनाएं और साथ ही भारतीय वायुसेना का इतिहास।

Indian Air Force Day 2022 – Celebrations

भारतीय वायु सेना की स्थापना 8 अक्टूबर सन 1932 में हुई थी और आज यह 90 साल पूरे कर रही है। आज का दिन भारतीयों के लिए गर्व का विषय है। भारतीय वायु सेना कर्मियों को सम्मानित ब उनकी देशभक्ति के उत्साह को प्रेरित करने के लिए भारत देश के नागरिक और मंत्री इस दिन को बड़े उत्साह से मना रहे है। भारत के राष्ट्रपति IAF के कमांडर इन चीफ होते हैं। यह दिन को पूरे देश में विभिन्न हवाई स्टेशनों पर बहुत जोश और गर्व के साथ मनाया जाएगा । इस मौके पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह मौजूद रहेंगे।

अबकी बार फ्लाईपास्ट में 75 विमान भाग लेंगे, जबकि 9 विमानों को स्टैंडबाय मोड पर रखा जाएगा। हल्का लड़ाकू हेलीकॉप्टर एलसीएच , सुखना झील में आकाश में अपनी वायु क्षमताओं का प्रदर्शन करेगा। तेजस, सुखोई, मिग-29, जगुआर, राफेल और हॉक भी फ्लाई पास्ट का हिस्सा होंगे।

IAF Day 8 अक्टूबर को ही क्यों मनाया जाता है?

भारतीय वायु सेना की स्थापना 08 अक्टूबर 1932 को हुई थी तब से यह बल ने कई महत्वपूर्ण युद्धों और ऐतिहासिक अभियानों में हिस्सा रहा है। उस समय , भारतीय वायु सेना के पास 6 RAF-ट्रेंड अधिकारियों और 19 वायु सैनिकों की ताकत थी। यह दूसरे देशों की मजबूत वायु सेना की तुलना में कुछ भी नहीं था.

पहले यह ब्रिटिश साम्राज्य की सहायक वायु सेना के रूप में स्थापित किया गया था. 1950 में भारत देश के पहले गणतंत्र पर इसको उपसर्ग रॉयल को हटा दिया गया था। IAF ने कांगो संकट [1960-1966], गोवा विलय [1961], कश्मीर युद्ध ]1965], बांग्लादेश मुक्ति युद्ध [1971], कारगिल युद्ध [1999] और बालाकोट के दौरान भी महत्वपूर्ण भूमिकाएँ निभाईं। यह युद्ध जीतकर भारत देश की प्रतिष्ठा को मजबूत बनाने के साथ इसे एक अलग मुकाम पर भी पहुचाया।

Indian Air Force Day 2022: Significance

IAF के पास लगभग 1,70,000 पर्सनल और 1,500 विमान है और रूस\ अमेरिका और चीन के बाद दुनिया की चौथी सबसे बड़ी वायु सेना है। भारतीय वायु सेना दिवस समारोह भारत के लड़ाकू पायलटों की ताकत, बहादुरी और साहस का प्रदर्शन के लिए बनाया जाता है। जो राष्ट्र की रक्षा के लिए सशस्त्र बलों द्वारा किए गए बलिदानों की याद दिलाता है ।

Important Question for all Competitive Exams

  • Indian Air Force Headquarters: New Delhi;
  • Indian Air Force Founded or Established: 8 October 1932 in India.
  • Indian Air Force Air Chief Marshall: Rakesh Kumar Singh Bhadauria.
  • Indian Air Force Chief Commander – President Draupadi Murmu (Present)

Our Site Homepage

IAF Official Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *